भारतअ‍ॅग्री ॲप के ‘फ्री कृषि कैलेंडर’ की मदद से बनें स्मार्ट किसान

बेस्ट एग्रीकल्चर ऍप

हमारे देश में सालों से खेती की जाती है। देश के हर कोने में अलग-अलग प्रकार की फसल उगाई जाती है। हमारे किसान दिन रात खेत में मेहनत करते हैं। भारत एक कृषिप्रधान देश है।

लेकिन, इस देश के अन्नदाता यानी किसानों को आज भी काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। किसानों को सबसे ज्यादा मुश्किल बदलते मौसम के वजह से होती है। ऐसे में भारतॲग्री ॲप किसानों के लिए वरदान साबित हो रहा है|

क्योकि भारतॲग्री ॲप किसानों के लिए मौसम आधारित गतिमान सलाह लेकर आया है। जोकि किसानों को स्मार्ट बनाने की कोशिश में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

किसानों के मुश्किल को दूर करने के लिए भारतअ‍ॅग्री ॲप हर मुमकिन कोशिश करता है। इसलिए भारतअ‍ॅग्री ॲप ‘फ्री कृषि कैलेंडर’ सेवा लेकर आया है।

‘फ्री कृषि कैलेंडर’ की मदद से किसानों को अगले तीन दिन के मौसम पूर्वानुमान की जानकारी दी जाएगी। इसके साथ ही किसानों को उनके फसल के अनुसार मौसम आधारित गतिमान सलाह भी दी जाएगी।

खास बात यह है कि, इस सेवा का लाभ लेने के लिए किसानों को एक भी रुपया खर्च नहीं करना पड़ेगा। यह सुविधा बिलकुल फ्री है। भारतअ‍ॅग्री ॲप के ‘फ्री कृषि कैलेंडर’ की सेवा से किसानों को काफी फायदा हो रहा है। किसानों का नुकसान कम हो रहा है। इसके साथ उन्हें फसल के बारे में जानकारी भी मिल रही है।

‘फ्री कृषि कैलेंडर’ की सेवा का लाभ लेने के लिए किसानों को सबसे पहले भारतअ‍ॅग्री ॲप डाउनलोड करना पड़ेगा।

भारतअ‍ॅग्री ॲप डाउनलोड करने के बाद किसानो को फ्री में अपना खेत जोड़ने का अवसर मिलेगा।

भारतअ‍ॅग्री से अपना खेत जोड़ते हुए किसानों को अपने खेत के बारे में कुछ जानकारियां देनी पड़ती है। जैसे कि,

  1. आपके पास कितने एकड़ खेत है?
  2. आप कौन सी फसल उगा रहे है?
  3. आप कहा के रहने वाले है?
  4. आपके फसल की बुवाई कब की गयी है?

इन जानकारियां के आधार पर भारतअ‍ॅग्री ॲप किसानों को उनके खेत पर आधारित मौसम आधारित गतिमान सलाह देता है।

जिस तरह एक सच्चा दोस्त अपने प्रिय मित्र को हर मुश्किल से बचाना चाहता है। उसी तरह ‘फ्री कृषि कैलेंडर’ भी किसानों को मौसम आधारित गतिमान सलाह देकर हर मुश्किल से बचाने की कोशिश करता है।

किसानों को बदलते मौसम के कारण काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। बदलते मौसम के कारण किसानों की फसल ख़राब होने की संभावना ज्यादा होती है। फसल में रोग एवं कीट का हमला हो सकता है। जिसके कारण किसानों की पूरी फसल बर्बाद भी हो सकती है।

वहीं, इससे किसानों का बड़ा नुकसान भी हो सकता है। लेकिन अब भारतअ‍ॅग्री ॲप किसानों को मौसम आधारित गतिमान सलाह देगा । जिसकी मदद से किसानों का नुकसान कम और आय दोगुनी हो जाएगी।

फ्री कृषि कैलेंडर किसानों को उनके खेत से जुड़ी जानकारी देकर उन्हें सतर्क करता है।

वहीं, किस फसल में कौन से रोग एवं कीट का हमला हो सकता है? इसकी भी जानकारी देता है। भारतअ‍ॅग्री ॲप के ‘फ्री कृषि कैलेंडर’ की सेवा की मदद से किसान कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं।

भारतअ‍ॅग्री ॲप के फ्री कृषि कैलेंडर की सेवा लाभ लेकर लाखों किसानों ने अपनी जिंदगी को संवारा हैं| तो आप भी इस फ्री सेवा का लाभ उठाएं और स्मार्ट किसान बन जाएं।

भारतअ‍ॅग्री ॲप डाउनलोड करने के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करें और निश्चिंत हो जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *