अगेती झुलसा रोग: टमाटर की फसल में इस रोग से छुटकारा पाएं।

टमाटर की फसल में अगेती झुलसा रोग से छुटकारा पाएं।

👩‍🌾 किसान भाइयों टमाटर की फसल में लगने वाला 🍅 अगेती झुलसा बहुत ही गंभीर रोग है। शुरुआत में इस रोग के लक्षण टमाटर की निचली पत्तियों से शुरू होता है। 👉जो धीरे धीरे ऊपरी पत्तियों, टहनियों एवं फलों को संक्रमित करता है।

☘️ अगेती झुलसा रोग के लक्षण गोल धब्बों के रूप में देखे जाते हैं। जिनके किनारे पर पीले निसान बन जाते हैं। धीरे धीरे यह धब्बे बढ़ते जाते हैं और पूरी तरह से फसल को बर्बाद कर देता है। इस लिए इस रोग के लक्षण दिखते ही इसका नियंत्रण बहुत जरुरी है। 👍

👉🏻 किसान भाइयों यदि आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे ⬆️ अपवोट करें और अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर करें।👍

🛡️ अगेती झुलसा रोग के नियंत्रण के उपाय

🔸 एक ही खेत में लगातार फसल न लें, फसल चक्र अपनाएं।
🔹 प्रमाणित बीजों का ही चयन करें।
🔸 रोग प्रतिरोधी किस्मों का चयन करें।
🔹 ग्रीष्मकालीन गहरी जुताई करें।
🔸 मृदा परीक्षण के आधार पर खाद एवं उर्वरकों का इस्तेमाल करें।
🔹 रासायनिक नियंत्रण के लिए सिंजेंटा का अमीस्टार (एज़ोक्सिस्ट्रोबिन 23% एससी) @ 200 मिली 200 लीटर पानी या धानुका का वीटावैक्स (कैप्टन 75% डब्ल्यूपी) @ 666 ग्राम 400 लीटर पानी या धानुका का कासु-बी (कासुगामाइसिन 3% एसएल) @ 400 से 500 मिली 200 लीटर पानी के साथ प्रति एकड़ छिड़काव करें।

👉🏻 यदि आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे ⬆️ अपवोट करें और अपने दोस्तों और परिवार के साथ शेयर करें।👍

🔻 नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके भारतअ‍ॅग्री ॲप डाउनलोड ⏬ करें और अपने खेत को भारतअ‍ॅग्री से जोड़कर 🤝🏼 आज ही स्मार्ट किसान बनें!👍
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *